शुक्रवार, जनवरी 20, 2012

आम आदमी की मानहानि

नेता ने धोखे से
जिस आदमी को
रक्त दान किया
उस आदमी को
साँप ने काँटने से
साफ इंकार किया
आदमी में दौड़ता
नेता का खून बौखलाया
उसे ये अपमान
बर्दाश्त नहीं हो पाया
तत्काल उसने न्यायालय में
मानहानि का केस लगाया
केस लड़ने हेतु उसने
हमारे अम्मी भैय्या को
वकालतनामा थमाया
अम्मी भैय्या सज्जन ठहरे
केस देखकर उस पर बिफरे
बोले रे आम आदमी
पहनने को पाजामा नहीं
टाई खरीद रहा है
सौ ग्राम खून से
इतना उछल रहा है
तीन चार पेशी में
सारी अकड़ भूल जायेगा
अबे बत्तीस रूपये के मनमोहन
केस जीत भी गया तो
मानहानि में कितना पायेगा
और वकील की फीस
क्या अपनी किडनी बेच के चुकायेगा !! जय हो !!

2 टिप्‍पणियां:

  1. अबे बत्तीस रूपये के मनमोहन
    केस जीत भी गया तो
    मानहानि में कितना पायेगा
    और वकील की फीस
    क्या अपनी किडनी बेच के चुकायेगा !! जय हो !!

    उत्तर देंहटाएं