मंगलवार, अगस्त 30, 2011

दर्द-ए-दिल-ए-स्वामी अग्निवेश


इक रहिन किरण
इक रहिन मनीष
इक रहिन केजरीवाल
इक रहिन प्रशांत
और इक रहिन  हम
 
किरण कही चलो अन्ना बन जाई
मनीष कही चलो अन्ना बन जाई
केजरी कही चलो अन्ना बन जाई
प्रशांत कही चलो अन्ना बन जाई
हम कही चलो हमऊ अन्ना बन जाई

तो किरण बनी लेफ्ट अन्ना
मनीष बनी राईट अन्ना
केजरी बनी फ्रंट अन्ना
प्रशांत बनी बेक अन्ना
और हम बनी ............


साला जगह ही नाहीं बची तो का बनते............


मजबूरी में बन गवा  स्वामी अग्निवेश  !! जय हो !!

2 टिप्‍पणियां:

  1. अग्नि वेश धरे शिखंडी-वेश
    war

    स्वामी फिर पकड़ा गया, धरे शिखंडी-वेश,
    सिब्बल के षड्यंत्र से, धोखा खाता देश,

    http://www.firstpost.com/wp-content/uploads/2011/08/agnivesh-reuters1.jpg

    धोखा खाता देश, वस्त्र भगवा का दुश्मन,
    टीमन्ना से द्वेष, कराता उनमे अनबन,


    http://upload.wikimedia.org/wikipedia/commons/7/7b/Donkey_1_arp_750px.jpg

    अग्नि का उद्देश्य, पकाता अपनी खिचड़ी,
    है धरती पर बोझ, बुनाये जाला-मकड़ी ||

    उत्तर देंहटाएं